Speeches

April 10, 2019

Speaking at Press Conference, in Mumbai

…दोंडे जी का और आप सभी नेताओं का। भारतीय जनता पार्टी और शिवसेना महाराष्ट्र में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के समर्थन में सब के सब 48 सीटें भेजें, उस संकल्प को लेकर दोनों पार्टी चुनावी मैदान में उतरे हैं। बहुत अच्छा समन्वय के साथ दोनों पार्टी, पार्टी के नेता, कार्यकर्ता, समर्थक आज प्रदेश के कोने-कोने तक पहुंचे है। और जो चुनावी दृष्टि दिख रही है, जिस प्रकार का माहौल दिख रहा है सब जगह, एक प्रकार से क्लीन स्वीप महाराष्ट्र में हो और प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के समर्थन में नेशनल डेमोक्रेटिक अलायंस को महाराष्ट्र से 48 के 48 सीट्स मिले, 48 सीटो को महाराष्ट्र से भेजक़र दो-तिहाई बहुमत की एनडीए की सरकार दिल्ली में बने इस संकल्प के साथ शिवसेना भाजपा चुनाव में उतरी है।

5 वर्ष एक ईमानदार सरकार देश की सुरक्षा, आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई करने वाली और भारत की अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने वाली, देश के 130 करोड़ लोगों को अलग-अलग प्रकार से विकास पहुंचे, उनके जीवन का स्तर सुधरे उसके लिए काम करने वाली सरकार ने अब 5 वर्ष पूरे किए है। हम हर वर्ष 26 मई को देश और जनता और प्रेस के समक्ष हमारा रिपोर्ट कार्ड लगातार देते आए हैं। और अब इस वर्ष फाइनल एग्जाम के लिए देश की जनता के बीच में उतरे हैं।

प्रधानमंत्री मोदी जी ने किताब लिखी थी – एक्जाम वारियर्स। एक प्रकार से उनके सब वॉरियर्स एक्जाम के लिये‌ तैयार है। देश की जनता भी मन बनाकर बैठी है कि प्रधानमंत्री मोदी जी को फिर एक बार मोदी सरकार बनाकर जनता और देश की सेवा करने का मौका और देश का नाम पूरे विश्व में और रोशन करने का मौका देने के लिए आज महाराष्ट्र की, मुंबई की और देश की जनता ने संकल्प लिया है। विश्व की सबसे तेज गति से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था आज़ादी के बाद सबसे कम महंगाई कोई 5 वर्ष में रही हो तो प्रधानमंत्री मोदी जी के नेतृत्व वाली सरकार के। तेज गति से गांव, गरीब, किसान, आदिवासी, शोषित और वंचित महिला, युवा, हर वर्ग तक विकास पहुंचने का जो काम इस 5 वर्ष में हुआ वो दोहराएं तो बहुत लंबा समय निकल जाएगा।

लेकिन हमारी माता, बहनें, बहुओं को आज़ादी के 65 वर्ष बाद भी तीन में से दो महिलाओं को शौचालय की सुविधा ना होना इस देश के लिए, हम सब के लिए बड़ी शर्मिंदगी की बात थी। इस सरकार ने लगभग हर घर तक, हर महिला तक शौचालय की व्यवस्था पहुंचाने का ऐतिहासिक काम किया जो मैं समझता हूं हमारी महिलाओं की डिग्निटी के लिए, उनके सम्मान के लिए एक बहुत ही अहम भूमिका निभाएगा आगे चलकर।

हमारी माता बहनों को एलपीजी गैस सिलेंडर नहीं होने के कारण जो ट्रेडिशनल चूल्हे पर खाना बनाना पड़ता था। उनके और उनके बच्चों के स्वास्थ्य पर जो उसका परिणाम था उसको खत्म करने के लिए आज़ादी से 2014 तक जितने एलपीजी गैस कनेक्शन दिए गए थे, लगभग उतने ही और गैस कनेक्शन मात्र 5 वर्ष में इस देश को  दिए गए। 65 वर्ष बनाम 5 वर्ष। और उसमें से 60 करोड़ से अधिक गरीबों को मुफ्त में दिए गए।

मेरे लिए तो बड़ी हैरानी थी कि 65 वर्ष आज़ादी के बाद भी करोड़ों बच्चों को बिजली नहीं थी, करोड़ों परिवार में घरों में बिजली नहीं थी। प्रधानमंत्री मोदी जी ने बहुत ही सिस्टमैटिकली पहले हर गांव तक बिजली पहुंचाई फिर हर मजला ढाणी तक पहुंचाई और आज हमें खुशी है सौभाग्य के माध्यम से लगभग देश में बहुत ही थोड़े से घर रह गए होंगे लगभग सभी घरों तक बिजली का कनेक्शन दिया गया है। ढाई करोड़ से अधिक गरीबों को तो मुफ्त में कनेक्शन दिया गया है। और आज कोई देश के बच्चे को बिना बिजली के पढ़ाई नहीं करनी पड़ती।

स्वास्थ्य की सेवाओं की कमी के कारण लाखों परिवार, गरीब, निम्म-मध्यमवर्ग ऐसे थे या तो स्वास्थ्य सेवा या मेडिकल ट्रीटमेंट करवा नहीं पाते थे। या लोन के दबाव में फिर पूरे जीवन लोन भरते रहते थे किसी अपने परिवार के सदस्य के इलाज के लिए। आज आयुष्मान भारत के तहत 50 करोड़ देश के नागरिकों को मुफ्त में स्वास्थ्य सेवाएं मिले इसको सुनिश्चित करके मैं समझता हूँ देश को एक बहुत बड़ी संख्या में मुक्त किया इस प्रकार की तकलीफ से।

और ऐसे अनगिनत और काम मैं सुना सकता हूँ जिसने देश के गरीब को और सशक्त बनाया है, देश की सीमाओं को सुरक्षित किया है। बालाकोट में आतंकवादियों के जड़ पर जाकर, लाइन ऑफ कंट्रोल क्रॉस करके जो मुँहतोड़ जवाब दिया उससे आज देश का हर नागरिक अपने आपको सुरक्षित महसूस करता है, देश की सीमाओं को सुरक्षित महसूस दिखता है। इन सब कामों की आधारशिला पर, फाउंडेशन पर हम फिर एक बार जनता के बीच, 5 साल और फिर एक बार मोदी सरकार बने, इसके लिए भारतीय जनता पार्टी और हमारे सहयोगी मित्र पक्ष महाराष्ट्र में शिवसेना रामदास आठवले जी की रिपब्लिकन पार्टी और ऐसे देश में अन्य-अन्य पार्टियों के सहयोग से फिर एक बार दो-तिहाई बहुमत इस बार एनडीए का मिले, उसके लिए हमने कुछ संकल्प लेकर उस संकल्प पत्र को देश के समक्ष रखा है।

हमने संकल्प लिया है कि इस देश में कोई परिवार ऐसा ना रहे जिसको अपना खुद का घर ना हो उसमें पेयजल की व्यवस्था ना हो, 24 घंटे बिजली ना हो, शौचालय ना हो और साथ ही साथ सड़क घर तक पहुंचे, स्वास्थ्य और शिक्षा की अच्छी सुविधा हो। और यह संकल्प हमने 2024 का नहीं जब आज़ादी के 75 वर्ष पूरे हो 2022 तक पूरे करने को, यह सरकार आने वाली सरकार प्रतिबद्ध रहेगी। और शायद पहली बार होगा इतिहास में कि एक 5 साल की आने वाली सरकार ने हाफ टर्म का भी लक्ष्य देश के सामने रखा है। 15 अगस्त 2022, जब हमारा लगभग आधा समय पूरा होगा, उसका भी लक्ष्य देश के समक्ष रखने का साहस भारतीय जनता पार्टी ने किया है।

आतंकवाद को मुँहतोड़ जवाब देने की क्षमता अगर किसी निर्णायक नेता के पास आज देश में है तो प्रधानमंत्री मोदी जी के है। अगर इस देश को भ्रष्टाचार मुक्त कोई बना सकता है, अगर इस देश में गरीब कल्याण का काम तेज गति से हो सकता है, अगर इस देश में घुसपैठियों को बाहर निकालने का काम कोई कर सकता है, अगर इस देश में जम्मू कश्मीर को देश के साथ जोड़ने का काम कोई कर सकता है, आर्टिकल 370 और 35A जो वर्षों-वर्षों से जम्मू कश्मीर को देश से अलग- थलग रख रही है उसको खत्म करने का काम कोई कर सकता है, अगर अयोध्या में भगवान राम के जन्म स्थान पर एक भव्य राम मंदिर बने यह काम कोई कर सकता है तो यह भारतीय जनता पार्टी की सरकार, एनडीए की समर्थन के साथ बनने वाली सरकार कर सकती है। और यह संकल्प लेकर देश प्रथम इस नारे के साथ यह आगे का चुनाव लड़ने भारतीय जनता पार्टी मैदान में उतरी है।

किसानों का कल्याण हो किसानों की 2022 तक आय दुगनी हो उसके लिए कई सारे कदम हमने गत 5 वर्षों में उठाएं है। अब हमने ऐसा तय किया है कि सभी किसानों को, चाहे वह छोटे और सीमांत ना हो, सभी किसानों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के तहत ₹6000 प्रति वर्ष देने का आगे आने वाली भाजपा एनडीए की सरकार कदम लागू करेगी। इसी के साथ-साथ 25 लाख करोड़ एग्रीकल्चर और ग्रामीण क्षेत्र में निवेश करके किसानों के जो आज प्रोड्यूस है, जो उत्पादन है, वह भी कैसे बढ़े, प्रोडक्टिविटी कैसे बढ़े, उत्पादन कैसे बढ़े और उसका वैल्यू एडिशन कैसे हो। कोल्ड स्टोरेजेस बने, लोजिस्टिक्स चेन बने, फूड प्रोसेसिंग यूनिट लगे, इसमे 25 लाख करोड़ रुपये का निवेश करने का संकल्प सरकार ने अगले 5 साल में लिया है।

साथ ही साथ छोटे और सीमांत किसानों को पेंशन योजना से जोड़ना, छोटे और सीमांत किसानों को ब्याज मुक्त कर्ज़ा 1 से 5 साल तक का देना, मछुआरों के लिए, फिशरीज़ के लिए एक नया मंत्रालय बनाने का निर्णय लिया गया है। मछुआरों को भी किसानों की तरह किसान क्रेडिट कार्ड मिले। उनके भी ब्याज में कम ब्याज पर उनको भी ऋण मिले और 10 हज़ार करोड़ रुपय का कॉरपस बनाकर उनके लिए इंफ्रास्ट्रक्चर उपलब्ध कराया जाए जिनसे जिससे उनकी आय भी बड़े, जो महाराष्ट्र की दृष्टिकोण से बड़ा कोस्टलाइन है। बहुत बड़ी संख्या में फिशरमैन है। वह निर्णय भी भारतीय जनता पार्टी ने लिया है और वह संकल्प पत्र में विश्वास दिलाया है। विश्व की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने के लिए एक अच्छी आधारशिला अगले 5 वर्ष में बने, उसके लिए पहला पड़ाव है कि भारत 5 ट्रिलियन डॉलर की इकॉनमी बने और अगला पड़ाव 10 ट्रिलियन डॉलर 2032 तक। तो अगले 5-6 वर्ष में 5 ट्रिलियन, फिर 7 वर्ष में इसको 10 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाकर देश के 130 करोड़ लोगों के जीवन में सुधार आए, महंगाई पर नियंत्रण रहे और तेज गति डबल डिजिट ग्रोथ तक इस देश को लेकर जाने का निर्णय सरकार ने किया है, भारतीय जनता पार्टी ने लिया है जो आगे आने वाली बीजेपी एनडीए की सरकार लागू करेगी।

साथ ही साथ एक नए भारत को और अच्छा बनाने के लिए 100 लाख करोड़ रुपये, 100 lakh crore का निवेश इंफ्रास्ट्रक्चर में करने का हमने संकल्प लिया है। आप सब जानते हैं गत 5 वर्षों में हमने तिगना कर दिया सालाना जो निवेश होता है इंफ्रास्ट्रक्चर में, लगभग तीन-साढे तीन लाख रुपये निवेश होता था केंद्र सरकार के सहयोग से या केंद्र सरकार के बजट से, वह इस वर्ष लगभग 10 लाख करोड़ का होने जा रहा है। अगले 5 वर्ष में लगातार बढ़ाते-बढ़ाते हम  इसको 27 से 30 लाख करोड़ पर लेकर जाएंगे। जिसका अगर 5 साल का जोड़ दें तो 100 लाख करोड़ का निवेश इंफ्रास्ट्रक्चर में करके इस देश को एक डेवलप्ड नेशन बनाने का काम करने का निर्णय भारतीय जनता पार्टी ने लिया है।

उसमें रोड कनेक्टिविटी, रेलवेज में निवेश, एयरपोर्ट, विद्युत क्षेत्र में डिजिटल कनेक्टिविटी बढ़ाना, जो मैंने 22 के संकल्प बताए, घर देना हर एक को पेयजल देना। यह सब काम में लगभग 100 लाख करोड़ रुपये खर्चकर, इस देश की अर्थव्यवस्था भी सुधरेगी, हर व्यक्ति के जीवन में विकास आएगा और साथ ही साथ करोड़ों की संख्या में लोगों को काम करने का मौका मिलेगा। यह भारत को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में एक बहुत अहम कदम होगा। साथ ही साथ कई सारे स्वास्थ्य से जुड़े हुए निर्णय लिए गए हैं। कैसे स्पेशलिस्ट डॉक्टर और एमबीबीएस को दोगुना करने के लिए नए वैलनेस सेंटर खोले, नए मेडिकल कॉलेजेस खोले, 75 नए मेडिकल और पोस्ट-ग्रेजुएट कॉलेज देश में खुले और डेढ़ लाख हेल्थ एंड वेलनेस सेन्टर्स बनाने का संकल्प भाजपा ने लिया है।

साथ ही साथ सुशासन हो देश में ईमानदार सरकार, भ्रष्टाचार-मुक्त सरकार और साथ ही साथ अलग-अलग प्रकार से जो कई वर्षों से गलत तरीके से देश का माइंड-सेट चला गया, उसको रोकना, विज्ञान की तरफ हमारी युवा पीढ़ी को और प्रोत्साहित करना, क्लाइमेट चेंज जो जलवायु परिवर्तन का जो एक बड़ी समस्या है उसके खिलाफ ठोस कदम उठाना, साथ ही साथ स्टार्ट अप इंडिया और स्टैंड अप इंडिया के तहत महिलाओं को युवाओं को नए अवसर देना उद्यमी बनने का, जॉब सीकर के बदले जॉब क्रिएटर बनने का, और शिक्षा प्रणाली में सुधार करके डिजिटल टेक्नोलॉजी से शिक्षा प्रणाली को सुधार करने का बहुत सारी योजनाएं हमने संकल्प पत्र में देश के समक्ष रखी है। हम यूनिफॉर्म सिविल कोड के लिए प्रतिबद्ध है और मुझे लगता है ट्रिपल तलाक का कानून उसका एक पहला अहम कदम होगा जो हमारी माता बहनें इस समस्या से जूंझ रही है, परेशान है, उनको एक बहुत बड़ा सहूलियत मिले,उनको बहुत बड़ी राहत मिले ट्रिपल तलाक कानून आने से उस समस्या का हम समाधान करना चाहते हैं।

एक प्रकार से पूरे समाज को साथ में लेकर हर वर्ग का विकास हो, हर वर्ग को सशक्तिकरण मिले और भारत की ऐतिहासिक धरोहर जो हमारी कल्चरल हेरिटेज है उसको भी संभालते हैं हुए उसको भी और अच्छा बनाते हुए, पर्यटन के क्षेत्र को और बल देते हुए, जिसमें करोड़ों लोगों को काम और रोज़गार की संभावनाएं मिल सकती है। और अन्य-अन्य प्रकार से पर्यटन को बल देकर एक भारत की जो आज साख पूरे विश्व में बनी है उसको एक डेवलप्ड नेशन के रूप में कन्वर्ट करना भारत की जो आज विश्वसनीयता पूरे विश्व में बनी है उसको और आगे बढ़ाना, एक विश्वास पत्र हमारे संकल्प पत्र में झलकता है।

एक-एक काम ऐसा जो किया जा सकता है, जो करने की क्षमता है प्रधानमंत्री मोदी जी और आने वाली भाजपा एनडीए की सरकार में। ईमानदार संकल्प पत्र, ईमानदार सरकार, देश के विश्वास के साथ हम जनता के बीच जा रहे हैं और मुझे पूरा पूरा विश्वास है महाराष्ट्र के 48 की 48 सीट जीतकर प्रधानमंत्री मोदी जी के इन प्रयासों को हम और बल देंगें और आशीर्वाद देंगे। इस कल्पना के साथ हम उतरे है चुनावी मैदान में और मीडिया के भी सभी बंधुओं का मैं तहे दिल से, सरकार की तरफ से धन्यवाद देना चाहूँगा कि आपने हमारे एक-एक कार्यक्रम को चाहे वह स्वच्छता हो, चाहे वह बिजली का कार्यक्रम हो, चाहे वह उज्ज्वला हो, लोगों को मुफ्त में एलपीजी सिलिंडर देना, चाहे वह आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई हो, इन सब में जो मीडिया ने बहुत ही जिम्मेदारी से अपना काम किया, जिस प्रकार से आपने भी नियंत्रण रखा सरकार के अन्य-अन्य योजनाओं पर। मैं समझता हूँ यह जनभागीदारी इस देश को बहुत तेज गति से आगे बढ़ाएगी। समाज का एक-एक व्यक्ति विकास महसूस करे और विकास का स्वाद ले। इस कल्पना के साथ आगे आने वाले 5 वर्ष हमारी सरकार देश के 130 करोड़ लोगों को विकास से प्रेरित करते हुए जनभागीदारी के साथ आगे बढ़ाएगी।

बहुत बहुत धन्यवाद।

प्रश्न-उत्तर

उत्तर: वैसे वह सपोर्ट नहीं किया है। वह उन्होंने जो वक्तव्य दिया उसका जिस पूर्ति से कांग्रेस के प्रवक्ता ने इस्तेमाल किया मैं तो सीधा आरोप लगाऊंगा कि यह तो कांग्रेस और शायद पाकिस्तान की मिलीभगत है। यह देश पूरा अच्छी तरह भली-भांति जानता है कि अगर पाकिस्तान को किसी नेता से डर है तो वह भारतीय जनता पार्टी के प्रधानमंत्री एनडीए के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से है। आखिर कांग्रेस ने तो संकल्प पत्र में सेडिशन लॉ भी निकालने का घोषणा कर दिया है। कांग्रेस के जो गुरु है जो उनकी विचारधारा बनाते हैं, उन्होंने तो हमारेआर्म्ड फोर्सेस पर प्रश्न चिन्ह उठा दिया है। सैम पित्रोदा जी और उनके कांग्रेस के कई नेता तो आर्मी और एयरफोर्स के ऊपर प्रश्न चिन्ह उठा रहे हैं।

और आप वक्तव्य देखिए मैं समझता हूँ हर मुंबईकर का खून खौलता है जब वह सैम पित्रोदा जैसे कांग्रेस नेता के सलाहकार का वक्तव्य देखते हैं। Some people came somewhere and did something. क्या वह 26.11.2008 को जो यहीं पर हुआ था हमारे आस पास ओबेरॉय में, वीटी स्टेशन पर ,ताज में क्या वह समथिंग था समवेयर था? हम सब मुंबईकर ने झेला है उस प्रकार का आतंकवादी हमला। तब की कांग्रेस सरकार ने कोई जवाब नहीं दिया। कोई पड़ोसी देश को या आतंकवादिओं को संदेश देने में असमर्थ और मजबूर थी कांग्रेस की पार्टी जो महाराष्ट्र और केंद्र में दोनों में सत्तारूढ़ थी। एक बड़ी कमजोर और एक प्रकार से निहत्थी सरकार कांग्रेस ने इस देश को दी जिसका खामियाना हर मुंबईकर को सहन करना पड़ा। आज वह डरते हैं तो मोदी जी से डरते हैं। और मुझे तो लगता है कांग्रेस और पाकिस्तान की साठ गाठ स्पष्ट हो गई उस वक्तव्य और कांग्रेस के बयान से।

उत्तर: कांग्रेस के आरोप में तो अभी देश ने भी विश्वास करना छोड़ दिया है। मैं समझता हूँ मेरा भाई यूनाइटेड फास्फोरस में जरूर है पर इंडिपेंडेंट डायरेक्टर के रूप में, इंडिपेंडेंट डायरेक्टर की आप सबको जानकारी होती है कोई day-to-day management में रोल नहीं रहता है। लेकिन उसके बावजूद इसकी डीटेल्स मेरे पास है नहीं यह पर्टिकुलर केस क्या आप बोल रहे हैं। लेकिन मैं समझता हूँ कांग्रेस बौखला गई है आज उनके पास कोई आरोप लगाने को तत्व नहीं है तो झूठे आरोपों पर अपनी राजनीति करना चाह रही है। और इस देश की जनता इससे गुमराह होने नहीं वाली है।

उत्तर: बाय द वे, मैं एक और एड कर सकता हूँ मुझे मालूम नहीं है कॉन्ट्रैक्ट क्या है क्या नहीं है लेकिन मुझे नहीं लगता कि कोई भी कॉन्ट्रैक्ट किसी को बिना पारदर्शी प्रोसेस के आज के दिन मिल सकता है पहली बात, और वैसे भी यह 10 साल पुराना है विनोद जी जो बता रहे हैं। तो 10 साल पुरानी बात आज वह लेकर आ रहे हैं कांग्रेस वाले तब तो कांग्रेस की सरकार थी यहाँ पर।

A. Nothing at all. Please understand, what has the supreme court said that documents, while its obviously not the right thing that official secret documents should go out, but once they have gone out we can refer to them. That’s the only decision the court has said and they will hear it. The government had only taken a stand that whether it is in the national interest that official secrets’ documents which are leaked out by whatever sources I don’t know, can be used to be the basis of a decision or a discussion or an argument in court. We were on a matter of principle whether any court proceedings can be carried out on stolen documents. The honorable supreme court has taken a decision and they would like to refer to that and conduct hearing. We welcome it. In fact, that will only help us in clarifying and clearing the whole thing even faster. I think it’s a very good decision.

A. Because we have inherited a whole system that the Congress had fine-tuned for so many years. And if the Congress is doing these type of activities even now, certainly we would like to take action. And I am sure an inquiry might be going on, who leaked those documents.

Q. Sir, my question to you is you just stated that Pakistan has some links to congress party, and that’s the reason….?

A. I didnt say that my friend. Then you have not even heard me properly. I said the fact that the Pakistan statement comes out and within a few minutes the Congress starts reacting and giving a whole release on that or a tweet on that, somehow it seems to look very fishy. It seems to show that they are both working for the same purpose and there seems to be a connection between the two.

Q. So British Prime Minister Theresa May has just stated that we regret the Jallianwala Bagh incident, how do you see such kind of statement in British Parliament after the independence?

A. This is also reflective of the growing strength that India has in the world geopolitical sphere. This also reflects that today the world, including United Kingdom, who was an occupier of India for so many years, who had kept us away from freedom for so many years, even they realize that India has become such a strong power now that they have to apologize to India and all Indians for their heinous acts.

मैं समझता हूँ कि भारत की उभरती हुई शक्ति का प्रदर्शन है एक और। यह दर्शाता है कि भारत का वर्चस्व पूरे विश्व में आज कितना मज़बूत है। भारत का वर्चस्व कितना तेज है। भारत की कितनी साख है पूरे विश्व कि यूनाइटेड किंगडम को भी आज खेद प्रकट करना पड़ा जो नरसंहार हुआ था जलियांवाला बाग पर। बहुत ही घिनौनी हरकत हुई थी उस समय। इस वर्ष 100 साल पूरे हो रहे हैं उस बात को, 13 तारीख को। फिर एक बार में श्रद्धांजलि देना चाहूँगा उन सब शहीदों को जिन्होंने देश के खातिर देश की आज़ादी के खातिर अपने जीवन को त्याग दिया और मैं समझता हूँ उन्हीं से प्रेरणा लेकर आज हम विकास के काम में देश देशभर में जुटे हैं और उन्हीं से प्रेरणा लेकर अगर कोई आतंकवादी हमला देश पर होता है, अगर कोई आतंकवादी देश पर बुरी नज़र से देखता है तो हमारी सरकार प्रतिबद्ध रहती है उसको मुँह-तोड़ जवाब देने के लिए।

प्रश्न: संकल्प पत्र में एक बार फिर राम मंदिर का मुद्दा लिखा गया है कि सभी संभावनाओं को ध्यान में रखते हुए … ?

उत्तर: भारतीय जनता पार्टी का हर कार्यकर्ता भारतीय जनता पार्टी का हर नेता और मैं समझता हूँ इस देश के हर व्यक्ति की आस्था जुड़ी हुई है राम मंदिर के साथ। हम सब चाहते हैं कि जहाँ भगवान राम का जन्म हुआ था उसी स्थान पर भगवान राम का भव्य मंदिर बने। मैं तो कांग्रेस से चाहता हूँ कि वह स्पष्ट करें कि वह चाहती है कि मैं वहाँ पर भगवन राम का मंदिर बने या नहीं चाहती है। या यह जो आज शिव भक्ति और भगवन राम की भक्ति का ढकोसला नाटक कर रही है कांग्रेस। जिस प्रकार से आस्था और रिलिजन को, धर्म को भी उन्होंने टूरिज्म और पर्यटन बना दिया है और चुनाव आने के पहले टूरिस्ट के नाते जाकर देश को गुमराह करती है कांग्रेस और कांग्रेस का नेतृत्व। कांग्रेस पार्टी पहले स्पष्ट करें वह क्या चाहती है राम मंदिर चाहते हैं या नहीं।

और अगर चाहते हैं तो कानूनी दखलंदाज़ी करना बंद करें। कोर्ट में अच्छी भली सुनवाई हो रही थी। टाइटल सूट था। अभी तक तो मामला सॉर्ट आउट हो जाता। कानूनी तरीके से संविधान के तहत उसका समाधान हो जाता अगर कांग्रेस के नेताओं ने दखलंदाज़ी करके राम मंदिर को रोका नहीं होता। तो यह देश की जनता जान ले कांग्रेस पार्टी नहीं चाहती है राम मंदिर और यह टूरिज्म करना रिलीजियस टूरिज्म करने से भारत की जनता भी गुमराह नहीं होने वाली।

प्रश्न: सर प्रधानमंत्री मोदी पर बनने वाली फिल्म पर इलेक्शन कमीशन ने रोक लगा दिया है?

उत्तर: उससे हमारा क्या लेना देना है? हमारा तो कोई फिल्म में रोल नहीं है। किसी ने बनाई है वैसे तो मैं तो खुद बहुत सारी फिल्में देखता हूँ। उरी – अ सर्जिकल स्ट्राइक का तो ज़िक्र मैंने बजट में भी किया था और बहुत प्रेरणादायक फिल्म थी वह। और कई सारी फिल्में बनती है जो बनाते हैं वह और सेंसर बोर्ड के बीच का मामला है। चुनाव आयोग ने किस दृष्टिकोण से किया है वह चुनाव आयोग को पूछना पड़ेगा। सरकार का इसमें कोई रोल नहीं है।

प्रश्न: सर सवाल यह उठता है कि आज के दिन अगर प्रधानमंत्री मोदी पर आप बुक रिलीज़ करा सकते हैं तो क्या ऐसी स्थिति में फिल्में रिलीज़ ….?

उत्तर: तो यह आपको पूछना पड़ेगा चुनाव आयोग को या बाकी विपक्षी और पार्टियों को जो बड़े परेशान थे। उनको यह ध्यान नहीं है कि फिल्म आए नहीं आए, आज प्रधानमंत्री मोदी देश के सबसे लोकप्रिय नेता है। आज हर एक के जीवन, हर एक के दिल में बैठे हैं। और शायद मूवी से कोई खास अंतर नहीं पड़ने वाला उनकी विजय में और दो-तिहाई बहुमत से एनडीए की सरकार बनने जा रही है भारत।

Ends.

Subscribe to Newsletter